शुक्रवार, 25 जनवरी 2019

उल्टे-सीधे वर्ण पिरामिड


ईवीएम का द्वंद्व 
दल दलदल 
 भोली जनता 
 लोकतंत्र 
चुनाव 
छल 
है? 

है 
दावा  
अपना  
धर्म जाति 
साम्प्रदायिक 
बाण-तूणीर
छलनी  करेंगे 
मतदाता का मान। 
© रवीन्द्र सिंह यादव 

12 टिप्‍पणियां:

  1. वाह !!बहुत ख़ूब आदरणीय ...लाजबाब 👌
    सादर

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. सादर आभार अनीता जी मनोबल बढ़ाने के लिये।

      हटाएं
  2. वाह....! बहुत खूब....लाजवाब.. आदरणीय।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. बहुत-बहुत आभार रवीन्द्र जी उत्साहवर्धन के लिये।

      हटाएं
  3. बहुत खूब कहा आपने आदरणीय सर
    लाजवाब....सटीक 👌
    सादर नमन

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. शुक्रिया आँचल जी चर्चा में शामिल होने के लिये।

      हटाएं
  4. उत्तर
    1. सादर नमन आदरणीया।

      आपकी टिप्पणी ब्लॉग पर देखकर हार्दिक ख़ुशी हुई।

      हटाएं
  5. सार्थक , कलात्मक पिरामिड रवीन्द्र जी |सादर -

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. सादर आभार रेणु जी शुभकामनाओं और उत्साहवर्धन के लिये।



      हटाएं
  6. इस टिप्पणी को लेखक ने हटा दिया है.

    जवाब देंहटाएं
  7. साहित्यपीडिया द्वारा सम्मानित होने के लिए हार्दिक बधाई और शुभकामनायें |

    उत्तर देंहटाएं

    जवाब देंहटाएं

विशिष्ट पोस्ट

दो लहरों के बीच

 सोती नदी में  एक लहर उठी  किनारे पर आकर  रेत पर एक नाम लिखकर थम गई  दूसरी लहर  किनारे से मिलने चली  रेत पर लिखा नाम  न कर सका और विश्राम पह...